Vitamin D From Sunlight: अच्छी सेहत पाने के लिए कई जतन करने पड़ते हैं. पोषक तत्वों से भरपूर डाइट, व्यायाम, पर्याप्त पानी पीना और सोना ये सभी सेहतमंद रहने के प्रो टिप्स हैं. लेकिन क्या आपके बॉडी में हर वो पोषक तत्व पहुंच रहे हैं जिनकी जरूरत आपके शरीर को होती है, पर आप इन्हें महसूस नहीं कर पाते. आजकल की महिलाओं में विटामिन की कमी सबसे अधिक देखी जाती है. जिसमें सबसे कॉमन है विटामिन डी. इसकी कमी होने पर शरीर में कई तरह की बीमारियां घर कर लेती हैं. जिनसे छुटकारा पाना कभी-कभी असंभव हो जाता है. आपको बता दें विटामिन डी की कमी ज्यादातर बाहरी धूप में न रहने के कारण भी होती है. सर्दियों में डायरेक्ट धूप इस कमी को पूरा कर सकता है.  

बॉडी में विटामिन डी की कमी को पूरा करने के लिए वैसे तो डॉक्टर्स टैबलेट्स खाने की सलाह दे देते हैं. लेकिन आप नैचुरल तरीके से भी विटामिन डी की कमी को पूरा कर सकते हैं. WHO की एक रिपोर्ट के अनुसार, शरीर का धूप के संपर्क में आना विटामिन डी के उत्पादन का अच्छा सोर्स माना गया है. दरअसल, सूर्य के प्रकाश में विटामिन डी की आपूर्ति को बढ़ावा देने की क्षमता होती है. तो आइये जानते हैं सर्दियों में किस तरह आप बॉडी में विटामिन डी की कमी को पूरा कर सकते हैं, साथ ही जानेंगे धूप में बैठने के अन्य फायदे.       

अगर आपको बदन दर्द रहता है, दिनभर सुस्ती छाई रहती है, काम करने में मन नहीं लगता, हड्डियों में दर्द रहता है, तो इन सभी दिक्कतों का एकमात्र उपाय है धूप. सूरज की किरणों में आधे घंटे समय देकर आप अपनी बॉडी को फुर्तीला बना सकते हैं. रोजाना सूर्योदय होने के बाद, आप सूरज की रोशनी में बैठें. इससे आपको निम्न फायदे होंगे….

अनिद्रा के लिए
एक शोध के अनुसार, यदि आप सुबह एक घंटे नेचुरल लाइट यानी सनलाइट में बैठते हैं, तो इससे अनिद्रा की शिकायत दूर होती है. साथ ही अच्छी नींद आती है. यहां तक कि जितना ज्यादा आप धूप में रहते हैं उतना ही सोते समय आपकी बॉडी मेलाटोनिन का उत्पादन करेगी, जिससे बेहतर नींद लेने में मदद मिलती है.

हड्डियां मजबूत 
सनलाइट में बैठना विटामिन डी पाने का सर्वोत्तम तरीका है. इसके जरिए शरीर में कैल्शियम मेंटेन रहता है. जिससे हड्डियों को मजबूती मिलती है. धूप लेने से‌ आपका इम्यून सिस्टम भी मजबूत होता है. सर्दियों में आपको धूप में आधे से एक घंटे जरूर बैठना चाहिए. 

Disclaimer: इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *